पेंशनरों की सेवाओं का लाभ उठाने के लिए मोबाइल ऐप एवं पोर्टल लॉंच, पहली ‘पेंशन अदालत’ का उद्घाटन, ‘अनुभव’ के तहत उल्‍लेखनीय योगदान देने वाले पेंशनरों का सम्‍मान

पेंशनरों की सेवाओं का लाभ उठाने के लिए मोबाइल ऐप एवं पोर्टल लॉंच,  पहली ‘पेंशन अदालत’ का उद्घाटन,  ‘अनुभव’ के तहत उल्‍लेखनीय योगदान देने वाले पेंशनरों का सम्‍मान : प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्‍य मंत्री,कार्मिक लोकशिकायत एवं पेंशन डॉ. जितेन्‍द्र सिंह ‘अनुभव’ के तहत उल्‍लेखनीय योगदान देने वाले पेंशनरों को भी सम्‍मानित
करेंगे।‘अनुभव’ एक ऐसा प्‍लेटफॉर्म है जहां सेवानिवृत्‍त कर्मचारी सरकार के
साथ अपनी कार्य के ‘अनुभव’ को बांटते हैं। ई- गर्वेनेंस से एम गर्वेनेंस
की ओर बढ्ते हुए एक मोबाइल ऐप भी बनाया गया है जिसमें जिसमें पेंशनर्स अपनी
सेवाएं व ‘अनुभव’ प्रदान कर सकेंगी। इस संदर्भ में एक पोर्टल भी लॉंच किया
जाएगा।

पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत और पेंशन

19-सितम्बर-2017 14:42 IST

डॉ. जितेन्‍द्र सिंह कल पहली ‘पेंशन अदालत’ का उद्घाटन करेंगे

‘अनुभव’ के तहत उल्‍लेखनीय योगदान देने वाले पेंशनरों को सम्‍मानित किया जाएगा

पेंशनरों की सेवाओं का लाभ उठाने के लिए मोबाइल ऐप एवं पोर्टल लॉंच किया जाएगा

पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) , प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्‍य मंत्री,कार्मिक लोकशिकायत एवं पेंशन तथा अंतरिक्ष व परमाणु ऊर्जा मंत्री डॉ. जितेन्‍द्र सिंह कल पहली लोक अदालत का उद्घाटन करेंगे।

Read also :  7th CPC : Revised Rate of Night Duty Allowance (NDA) for Railway servants (RBE No. 36/2018)

वे ‘अनुभव’ के तहत उल्‍लेखनीय योगदान देने वाले पेंशनरों को भी सम्‍मानित करेंगे।‘अनुभव’ एक ऐसा प्‍लेटफॉर्म है जहां सेवानिवृत्‍त कर्मचारी सरकार के साथ अपनी कार्य के ‘अनुभव’ को बांटते हैं। ई- गर्वेनेंस से एम गर्वेनेंस की ओर बढ्ते हुए एक मोबाइल ऐप भी बनाया गया है जिसमें जिसमें पेंशनर्स अपनी सेवाएं व ‘अनुभव’ प्रदान कर सकेंगी। इस संदर्भ में एक पोर्टल भी लॉंच किया जाएगा। माननीय मंत्री डॉ. जितेन्‍द्र सिंह कल इनका उद्घाटन करेंगे। भारत सरकार के पेंशनरों के कल्‍याण के उपायों के तहत केंद्र सरकार के 300 सेवा निवृत्‍त हो रहे लोगों के लिए सेवा निवृत्ति से पूर्व काउंसलिंग के लिए एक कार्यशाला का आयोजन भी किया जा रहा है। इसका आयोजन कार्मिक लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय की पेंशन एवं पेंसशनर कल्‍याण विभाग ने किया है।

इस कार्यशाला का उद्देश्‍य सेवानिवृत्ति के बाद के लाभों के बारे में जागरुकता पैदा करना है साथ ही कार्यशाला में सेवानिवत्ति के बाद के जीवन की पूर्व योजना के बारे में भी जानकारी मुहैया कराई जाएगी। विचार-विमर्श अधिवेशन के चार सत्र होंगे। इनमें सेवानिवृत्ति से संबंधित जानकारी, पेंशनर्स के लिए चिकित्‍सा सुविधाएं, ‘संकल्‍प’ के तहत स्‍वंयसेवी सामाजिक गतिविधियों में सेवानिवृत्‍त लोगों को फिर से कार्यरत किए जाने पर होंगे। एक अन्‍य अधिवेशन आयकर एवं इसके लाभों तथा निदेश व वित्‍तीय योजना के बारे में होगा। साथ ही वसियत लिखने के महत्‍व के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।

Read also :  Action Taken Report on the minutes of the 29th SCOVA meeting held on 12.01.2017

इस कार्यक्रम के तहत पेंशन विभाग पेंशन अदालतों की एक श्रृंखला पहली बार शुरू कर रहा है। यह पेंशनरों के लिए एक ऐसा माध्‍यम होगा जिसमें वे अपनी मुश्किलों का समाधान प्राप्‍त कर सकेंगे। इस अदालत में संबंधित विभाग बैंक एवं केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सेवा योजना के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। इसका उद्देश्‍य यह है कि नियमों के तहत समस्‍याओं का समाधान सरलता से एक ही स्‍थान पर किया जा सके।

एक मोबाइल ऐप भी कल लॉंच किया जाएगा। इसमें पेशनरों के लिए सभी सेवाओं को शामिल किया गया है। ये सूचनाएं विभाग के पोर्टल पर इस समय उपलब्‍ध है। इन सूचनाओं को मोबाइल ऐप के जरिये उपलब्‍ध कराया गया है। इस ऐप के जरिये सेवा निवृ‍त्‍त केंद्र सरकार के अधिकारी व कर्मचारी अपनी पेंशन सेटलमेंट की स्थिति के बारे में जानकारी हासिल कर सकेंगे। सेवानिवृत्‍त व्‍यक्ति पेंशन निरीक्षण के जरिये अपनी पेंशन का स्‍वयं आकलन कर सकेंगे। पेंशनर अपनी शिकायतों को भी दर्ज करा सकेंगे और विभाग के आदेश भी प्राप्‍त कर सकेंगे।

Read also :  7th CPC : Bunching of stages of Pay in the pre-7th CPC Pay scales in revised pay scales - FinMin Clarification dated 07.02.2019

‘अनुभव’ पुरस्‍कार 2017 उन 17 लोगों को दिए जाएंगे जिन्‍होंने अपने विभागों के लिए उल्‍लेखनीय कार्य किया है। ‘अनुभव’ योजना प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के आह्वाहन पर की गई है ताकि सेवानिवृत्‍त कर्मचारी अपने अनुभवों को बताएं। ऐसे अनुभव जिनसे भविष्‍य में सरकारी क्षेत्रों में कार्य करने वाले लोगों के लिए महत्‍वपूर्ण अनुभव हासिल हो सके। इन अनुभ्‍वों में ऐसा संदेश होना चाहिए जिससे सरकारी कार्यालयों में कार्य करने वाले व्‍यक्तियों को प्रोत्‍साहन और प्रेरणा मिल सके।

******

Source : PIB

 
FOLLOW US FOR LATEST UPDATES ON FACEBOOK AND TWITTER

COMMENTS