वरिष्ठ नागरिकों को आयकर में बड़ी राहत  Relief to Senior Citizens in Income Tax

वरिष्ठ नागरिकों को आयकर में बड़ी राहत Relief to Senior Citizens in Income Tax

पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार

वित्‍त मंत्रालय

वरिष्ठ नागरिकों को राहत : जमा योजनाओं से होने वाली आय में छूट की सीमा
बढ़ाकर 50 हजार रुपए की गई

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना मार्च 2020 तक जारी रहेगी

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के अंतर्गत निवेश की वर्तमान सीमा को बढ़ाकर
15 लाख रुपए किया गया


प्रकाशन तिथि: 01 FEB 2018 2:55PM by PIB Delhi

वरिष्ठ नागरिकों को गरिमापूर्ण जीवन प्रदान करने के लिए केन्द्रीय वित्य एवं
कॉरपोरेट मामलों के मंत्री श्री अरुण जेटली ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए
महत्वपूर्ण रियायतों की घोषणा की है। 
संसद में आज आम बजट 2018-19 पेश करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि बैंकों तथा
डाकघरों में जमा राशि पर ब्याज आय में छूट 10 हजार रुपए से बढ़ाकर 50 हजार
रुपए की गई है तथा आयकर धारा 194ए के तहत स्रोत पर आयकर की कटौती नहीं की
जाएगी। यह लाभ सावधि जमा योजनाओं तथा आवर्ती जमा योजनाओं में प्राप्त होने
वाले ब्याज के लिए भी उपलब्ध होगा। 
वित्त मंत्री ने कहा कि धारा 80डी के अंतर्गत स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम या
चिकित्सा व्यय हेतु कटौती सीमा को 30 हजार रुपए से बढ़ाकर 50 हजार रुपए कर
दिया गया है। अब सभी वरिष्ठ नागरिक किसी स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम या किसी
चिकित्सा के संदर्भ में 50 हजार रुपए प्रतिवर्ष तक कटौती के लाभ का दावा कर
सकेंगे। 
वित्त मंत्री ने धारा 80डीडीबी के अंतर्गत गंभीर बीमारी से संदर्भ में
चिकित्सा खर्च के लिए कटौती सीमा को वरिष्ठ नागरिकों के मामले में 60 हजार
रुपए से और अति वरिष्ठ नागरिकों के मामले में 80 हजार रुपए से बढ़ाकर सभी
वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक लाख रुपए का प्रस्ताव किया। 
इन रियायतों से वरिष्ठ नागरिकों को 4 हजार करोड़ रुपए का अतिरिक्त कर लाभ
प्राप्त होगा। 
टैक्स रियायतों के अतिरिक्त वित्त मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री वय वंदना
योजना को मार्च 2020 तक बढ़ाया गया है। इस योजना के तहत भारतीय जीवन बीमा निगम
द्वारा 8 प्रतिशत निश्चित प्रतिलाभ प्रदान किया जाता है। इस योजना के तहत
प्रति वरिष्ठ नागरिक 7.5 लाख रुपए की मौजूदा निवेश सीमा को बढ़ाकर 15 लाख रुपए
किया जा रहा है। 

*****************************
relief-to-senior-citizens
Press Information Bureau
Government of India
Ministry of Finance

Relief to Senior Citizens: Exemption of Interest Income on deposits
increased to Rs 50,000

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana extended up to March 2020

Existed limit on investment under PMVVY enhanced to Rs 15 lakhs

Posted On: 01 FEB 2018 1:29PM by PIB Delhi

With the objective of providing a dignified life to senior citizens, the
Union Minister for Finance and Corporate Affairs, Shri Arun Jaitley,
announced significant incentives for senior citizens. 
Presenting the General Budget 2018-19 in Parliament here today, the Finance
Minister said that the exemption of interest income on deposits with banks
and post offices to be increased from Rs. 10,000/- to Rs. 50,000/- and TDS
shall not be required to be deducted on such income, under section 194A.
This benefit shall be available also for interest from all fixed deposits
schemes and recurring deposit schemes. 
The Finance Minister also announced raising the limit of deduction for
health insurance premium and/ or medical expenditure from Rs. 30,000/- to
Rs. 50,000/-, under section 80D. All senior citizens will now be able to
claim benefit of deduction up to Rs. 50,000/- per annum in respect of any
health insurance premium and/or any general medical expenditure incurred. 
Further, the Finance Minister proposed raising the limit of deduction for
medical expenditure in respect of certain critical illness from Rs.
60,000/- in case of senior citizens and from Rs. 80,000/- in case of very
senior citizens, to Rs. 1 lakh in respect of all senior citizens, under
section 80DDB. 
These concessions will give extra tax benefit of Rs. 4,000 crores to senior
citizens. 
In addition to tax concessions, the Finance Minister proposed to extend the
Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana up to March 2020 under which an assured
return of 8% is given by Life Insurance Corporation of India. The existing
limit on investment of Rs. 7.5 lakh per senior citizen under this scheme is
also being enhanced to Rs. 15 lakh. 

 ***
FOLLOW US FOR LATEST UPDATES ON  FACEBOOK AND TWITTER 

Source: PIB

Read also :  7th CPC Pension Revision of 9.5 lakhs Pre-2016 & 16K post-2016 became due, CPAO instructions to PAO to use e-revision utility

COMMENTS