EPFO: PF खाताधारकों के लिए बड़ी खबर, पैसा निकालना और ट्रांसफर करना हुआ आसान

EPFO: PF खाताधारकों के लिए बड़ी खबर, पैसा निकालना और ट्रांसफर करना हुआ आसान

EPFO: PF खाताधारकों के लिए बड़ी खबर, पैसा निकालना और ट्रांसफर करना हुआ आसान

लाखों प्रोविडेंट फंड (PF) खाताधारकों को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने एक बड़ा तोहफा दिया है। नई सुविधा के तहत पीएफ खाताधारकों के लिए पैसा निकालना या ट्रांसफर करना आसान हो गया है। आइए जानते हैं इस नई सुविधा के बारे में।

epfo-account-holder-can-withdraw-transfer-funds-easily

शुरू हुई ये नई सुविधा

ईपीएफ के पोर्टल पर अब ‘Date of exit’ का नया फीचर जुड़ गया है। इस सुविधा के तहत खाताधारक कर्मचारी अपनी नौकरी बदलने पर खुद ही इसकी जानकारी पोर्टल पर अपडेट कर सकेंगे। अगर वे पैसा निकालना या ट्रांसफर करना चाहते हैं, तो इसके लिए उन्हें दो महीने तक का इंतजार करना होगा। आइए जानते हैं इसका तरीका।

Read also :  Notional Increment/re-fixation of pensionary benefits to Govt. servant retiring on the last day of the month - CBIC Important Instruction.

ये है प्रक्रिया

  • नौकरी बदलने की तारीख डालने के लिए सबसे पहले ईपीएफओ की वेबसाइट पर जाना होगा।

  • इसके बाद आपको युनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN), पासवर्ड और कैप्चा कोड डालकर लॉग इन करना होगा।

  • अब ऊपर दिए गए टैब में से मैनेज सेक्शन में जाएं और ‘एग्जिट मार्क’ पर क्लिक करें।

  • अब आपको ड्रॉपडाउन मेन्यू में पीएफ खाता नंबर चुनने का विकल्प मिलेगा, जिससे आपको अपनी पुरानी कंपनी का खाता चुनना होगा।

  • अबह आपको नौकरी छोड़ने की तारीख और उसका कारण भरना होगा। इसमें आपको रिटायरमेंट, शॉर्ट सर्विस जैसे विकल्प भी डालने होंगे।

  • अब ‘रिक्वेस्ट ओटीपी’ पर किल्क करें। अब आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा, जिसे डालने के बाद आपको ओके टैब पर किल्क करना होगा।

  • आपके मोबाइल पर मैसेज आएगा कि नौकरी छोड़ने की तारीख आपके पीएफ खाते में दर्ज कर दी गई है।

  • ध्यान रहे कि कंपनी छोड़ने के दो महीने से पहले आप अपने बाहर निकलने की तारीख को दर्ज नहीं कर सकते हैं।

Read also :  Reservation in Kendriya Vidyalayas - Loksabha Q&A

ऐसे होगा फायदा

खाताधारक यह काम खुद घर बैठे ही कर सकेंगे। इससे पहले नौकरी छोड़ने के बाद डेट ऑफ एग्जिट को दर्ज कराने के लिए कर्मचारी को कंपनी पर निर्भर रहना पड़ता था। उनकी कंपनी दो महीने से पहले नौकरी छोड़ने की तारीख को दर्ज नहीं करती थी, जिसके कारण खाताधारकों को नई कंपनी में अपना पैसा ट्रांसफर करने में दो महीने से ज्यादा का वक्त लगता था। इस दौरान क्लेम सेटल नहीं हो पाता था। लेकिन पैसा निकालने के लिए आपको अब भी दो महीने का इंतजार करना होगा।

Read more at Amarujala (Click here to read more)

Read also :  नियम एफआर 56(ज) के तहत अनिवार्य सेवानिवृत्ति - लोक सभा में माननीय मंत्री का जवाब 

COMMENTS