EPFO issued revised instructions to facilitate PF members to rectify their date of birth in EPFO records

EPFO issued revised instructions to facilitate PF members to rectify their date of birth in EPFO records / ईपीएफओ ने पीएफ सदस्यों को अपने जन्म रिकार्ड ठीक करने की सुविधा प्रदान करने के लिए संशोधित निर्देश जारी किए

Press Information Bureau
Government of India
Ministry of Labour & Employment

05-April-2020 15:47 IST

EPFO Issues Revised Instructions to Facilitate PF Members to Rectify their Birth Records

In a move to extend the availability and reach of online services in the wake of the COVID-19 pandemic, EPFO has issued revised instructions to its field offices to facilitate PF members to rectify their date of birth in EPFO records, thus ensuring that their UAN is KYC compliant.

The date of birth recorded in ‘Aadhaar’ will now be accepted as valid proof of date of birth for the purpose of rectification, provided that the difference in the two dates is less than 3 years. The PF subscribers can submit the correction requests online.

Read also :  Railway Order: Payment of DR to re-employed pensioners-reg.

This will enable EPFO to validate the date of birth of members online with UIDAI instantaneously, thus authenticating and reducing the processing time of change requests.

EPFO has instructed field offices to expedite disposal of online requests, enabling PF members in financial distress, to apply online for availing non refundable advance from their PF accumulations to tide over the COVID-19 pandemic.

*****

RCJ/SKP/IA


ईपीएफओ ने पीएफ सदस्यों को अपने जन्म रिकार्ड ठीक करने की सुविधा प्रदान करने के लिए संशोधित निर्देश जारी किए

कोविड-19 महामारी के बाद आनलाइन सेवाओं की उपलब्धता और पहुंच विस्तारित करने के लिए, ईपीएफओ ने पीएफ सदस्यों को अपने ईपीएफओ जन्म तिथि के रिकार्ड को ठीक करने की सुविधा प्रदान करने के लिए अपने फील्ड अधिकारियों को संशोधित निर्देश जारी किए हैं और इस प्रकार,सुनिश्चित किया कि उनका यूएएन केवाईसी अनुवर्ती है।

Read also :  Accept the Life Certificate Physically or Electronically from the pensioners - CPAO's strict instruction for banks

‘आधार’में दर्ज जन्म की तिथि को अब शुद्धिकरण के प्रयोजन के लिए जन्म की वैध तिथि के रूप में स्वीकार किया जाएगा, बशर्ते कि दोनों तिथियों में अंतर तीन वर्ष से कम हो। पीएफ अभिदाता शुद्धिकरण के आग्रहों को ऑनलाइन जमा कर सकता है।

यह ईपीएफओ को यूआईडीएआई के साथ तत्काल ऑनलाइन सदस्यों की जन्म तिथि को सत्यापित करने में सक्षम बनाएगा,इस प्रकार बदलाव आग्रहों के अधिप्रमाणन और प्रोसेसिंग समय में कमी लाएगा।

ईपीएफओ ने कोविड-19 महामारी पर काबू पाने में अपने पीएफ संचयों से गैर वापसी योग्य अग्रिम का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन आग्रह करने में वित्तीय संकटग्रस्त पीएफ सदस्यों को सक्षम बनाते हुए अपने फील्ड अधिकारियों को ऑनलाइन आग्रहों के निपटान में तेजी लाने को कहा है।

Read also :  PL-Bonus for 60 days for EPFO Employees for 2016-17 : Order issued

***

एएम/एसकेजे

Source: PIB

COMMENTS